आदि शंकराचार्य जी

स्वामी ज्ञानानन्द जी सरस्वती
श्री स्वामीजी का जन्म 30 जनवरी 1967  तदनुसार माघ कृष्ण पञ्चमी ,सोमवार को जनपद मऊ उत्तर प्रदेश के नागपुर निवाशी अत्रि गोत्रीय ब्राहमण पण्डित जगदीश तिवारी जी के यहाँ हुआ | आप की आरंभिक शिक्षा-दीक्षा मऊ में हुई | धर्म एवं आध्यात्म के प्रति आपकी गम्भीर रूचि बचपन से ही रही तथा गोरखपुर विश्वविद्यालय से स्नात्तकोत्तर उपाधि प्राप्त करने के पश्चात् आप का वैराग्य पूरी तरह से प्रकट होने लगा फलस्वरूप अयोध्या परिक्रमा के पश्चात् आपने सम्पूर्ण भारतवर्ष की यात्रा की , तदुपरान्त आपने गृह स्थान पर श्री राम जानकी मन्दिर का जीर्णोद्धार कराया | वर्ष 1994 में आप बदरिकाश्रम में परमहंस स्वामी श्री आश्रमानन्द सरस्वतीजी महाराज से दीक्षा लेकर विधिवत दण्डी स्वामी हुए | बदरिकाश्रम से आपने पैदल हिमसेतु यात्रा प्रारम्भ की जो 1095 दिनों तक चली | इस यात्रा क्रम में आपने उत्तर से दक्षिण तक सम्पूर्ण भारत का भ्रमण एवं गहन अध्ययन किया|